Breaking News
  • मुंगेली : जंगल से भटककर आए हिरण की मौत, 15 दिन के भीतर हिरण मौत का दूसरा मामला, शव को वन विभाग ने लिया कब्जे में, जरहागांव थाना क्षेत्र का मामला।
  • कोरिया : दिव्यांग कर्मचारी ने अपने अधिकारी पर लगाया प्रताड़ना का आरोप, जल संसाधन संभाग बैंकुठपुर के कार्यपालन अभियंता पर आरोप, पुलिस ने की जांच की बात, बैंकुठपुर कोतवाली थाना क्षेत्र का मामला।
  • पेंड्रा : लावारिस हालत में सड़क किनारे खड़ी सफारी वाहन से 87 पाव शराब जब्त, मध्यप्रदेश से अंग्रेजी शराब छत्तीसगढ़ में खपाने वाले तस्करों की गाड़ी होने की आशंका, गौरेला के खैरझिठी गांव की घटना।
  • बिलासपुर : अंग्रेजी शराब की अवैध तस्करी करते बिलासपुर पुलिस ने अंतर्राज्यीय गिरोह के एक आरोपी को किया गिरफ्तार,  मप्र के अनूपपुर जिले के जैतहरी निवासी आरोपी शिवकुमार 80 बॉटल अंग्रेजी शराब, वैगनआर कार, एक एयर पिस्टल व छर्रा सहित 70 हजार नगद जब्त।
  • नई दिल्ली : फिर मुश्किल में सलमान खान, दलितों के खिलाफ टिप्‍पणी पर कोर्ट में याचिका, एफआईआर दर्ज करने की मांग।
  • मुंबई : उद्धव ठाकरे का बयान, कहा- ‘पीएनबी घोटाले की वजह से ठंडे बस्‍ते में चला गया राफेल घोटाला’।
  • सीरिया : सरकारी फौजों का दमिश्क में अब तक का सबसे बड़ा हमला, मृतकों की संख्या 300 हुई।
  • इस्लामाबाद : पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा- ‘मुझे जिंदगीभर के लिए सियासत से दूर करने की हो रही साजिश’

ISI को खुफिया दस्तावेज मुहैया करवाने के आरोप में एयर फोर्स का ग्रुप कैप्टन गिरफ्तार

By Lalit Singh

राष्ट्रीय | Published On: 9 Feb, 2018 | 3:36 PM GMT 05:30+

ISI को खुफिया दस्तावेज मुहैया करवाने के आरोप में एयर फोर्स का ग्रुप कैप्टन गिरफ्तार

हनीट्रैप जाल में फंसकर दे दी गोपनीय जानकारी

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने एयर फोर्स के ग्रुप कैप्टन को खुफिया जानकारी लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। अरेस्ट ग्रुप कैप्टन का नाम अरुण मारवाह है। बताया जाता है कि मारवाह फेसबुक पर दो महिलाओं के संपर्क में आया। वे महिलाएं आईएसआई की एजेंट्स थी। अरुण ने वॉट्सएप के जरिए वायुसेना की कई अहम जानकारियों को उन महिलाओं के साथ शेयर किया।

इसके अलावा वे एयरफोर्स हेडक्वार्टर में अपना फोन लेकर जाते थे, जो कि अनधिकृत फोन था। बता दें कि एयरफोर्स के अधिकारियों को विशेष फोन दिए जाते हैं क्योंकि उन्हें बाहर के सामान्य फोन इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं होती है। अरुण इसी फोन से सारी जानकारी इकट्ठी करते थे और उन महिलाओं को देते थे। ग्रुप कैप्टन को 5 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा गया है। अरुण मारवाह का बेटा भी एयरफोर्स में है।

ऐसे ISI के संपर्क में आए अरुण

मारवाह ने पूछताछ में बताया कि वह दिसंबर में त्रिवेंद्रम गया था, वहां एयरफोर्स के एक पुराने कर्मी के जरिए उसके फेसबुक मेसेंजर पर एक किरण रंधावा नाम की एक आईडी से उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट आई, धीरे-धीरे उससे बातचीत शुरू हो गई। कई वीडियो और फोटो भी दोनों ने एक-दूसरे के साथ शेयर किए। अपने जजाल में फंसाने के लिए लड़की ने उसे कई अश्लील मैसेज भी भेजे। तभी उन्होंने कुछ गोपनीय दस्तावेज मेसेंजर पर ही किरण को भेजे। उन्हें महिमा नाम की आईडी से भी रिक्वेस्ट आई। उसके साथ भी उन्होंने दस्तावेज शेयर किए।

हालांकि अरुण ने बताया कि वे उन महिलाओं से कभी मिले नहीं हैं और न ही उन दस्तावेजों की एवज में कोई पैसे लिए। हालांकि स्पष्ट नहीं है कि वो एजेंट लड़की है या उसने लड़की बनकर बात की। फिलहाल पुलिस जांच कर रही है कि मारवाह ने कौन-कौन से दस्तावेज ISI एजेंट को मुहैया करवाए हैं। दरअसल अरुण वायुसेना मुख्यालय में तैनात था और आशंका जताई जा रही है कि कई महत्वपूर्ण डाटा लीक हुआ होगा। हनीट्रैप की पुष्टि होने के बाद ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मारवाह को गिरफ्तार किया है।

क्या है हनीट्रैप?

हनीट्रैप में फंसाकर सैन्य अधिकारियों की जासूसी की जाती है और फिर उन्हें खुफिया जानकारी हासिल करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए एजेंट किसी खूबसूरत लड़की की फोटो का सहारा लेते हैं या कई बार तो लड़कियों को ही इसमें इस्तेमाल किया जाता है। लड़कियां पहले मैसेज करके ऑफिसर को अपने जाल में फंसाती है और फिर धीरे-धीरे उनसे सारे राज उगलवाए जाते हैं। इसलिए सेना में कुछ नियम बनाए जाते हैं। सेना के लिए सोशल मीडिया पर सक्रिय होने के लिए एक सख्त संहिता है। इसके तहत सैनिकों को अपनी पहचान, पद, तैनाती और अन्य पेशेवर विवरण साझा करने पर पाबंदी है। इतना ही नहीं उन्हें वर्दी में अपनी तस्वीर भी लगाने के लिए मना रहता है।

INH News 


Title For Web: group captain of air force trapped in honeytrap
Group captain Air force Trapped Honeytrap ISI Intelligence document Arun Marwah
Trending
1/50

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर