Breaking News

Chhattisgarh Assembly Budget Session : सिंहदेव ने कहा- 'हम चुनावी साल के बजट में ब्रह्मास्त्र की आशा कर रहे थे, लेकिन जैसा 25 मई को चला था, वैसा ब्रह्मास्त्र नहीं चला'

By Sanjeet Tripathi

राष्ट्रीय | Published On: 15 Feb, 2018 | 4:15 PM GMT 05:30+

Chhattisgarh Assembly Budget Session :  सिंहदेव ने कहा- 'हम चुनावी साल के बजट में ब्रह्मास्त्र की आशा कर रहे थे, लेकिन जैसा 25 मई को चला था, वैसा ब्रह्मास्त्र नहीं चला'

रायपुर : विधानसभा में पेश बजट पर जारी सामान्य चर्चा में अपनी बात रखते हुए नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि बजट में राशि खर्च का उल्लेख होता है। श्वेत पत्र जारी करना चाहिए सरकार को कितना आमदनी कितना खर्च हुआ। सीएजी 12 से 20 हजार करोड़ खर्च नहीं करने की बात कही जा रही है। उन्होंने सरकार से पूछा कि कहीं आमदनी गड़बड़ा रही है क्या। शिक्षाकर्मियों को दिसम्बर से तनख्वाह नहीं मिली।

सिंदेव ने कहा कि बजट का घाटा बढ़ रहा है। 9997 करोड़ का घाटा बताया गया है बीते बजट की तुलना में। लोन का बोझ बढ़ता जा रहा है। प्रदेश अपने संसाधनों का विकास नहीं कर पा रहा है। कोयले की स्टाम्प ड्यूटी में सरकार छूट दे रही है। कोल नीलामी के बाद राज्य को क्या मिल रहा है। आप कोयला खदानों में स्टाम्प ड्यूटी की छूट दे रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ‘प्रदेश में दैनिक व्यवसाय के साथ साथ प्रदेश की आमदनी में भी GST का असर पड़ रहा है। 15 प्रतिशत से घटकर आमदनी 9 प्रतिशत का अनुमान है। अभी प्रदेश में एक व्यापारी ने इसकी वजह से आत्महत्या की है’।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कृषि के क्षेत्र में 18.1 की वृद्धि का अनुमान था वह घटकर 15.2 हो गया। राज्य में धान या चावल का उत्पादन प्रति हेक्टेयर 1597 राष्ट्रीय औसत 2494 है। किसी भी पैमाने में कृषि के क्षेत्र में प्रदेश राष्ट्रीय आंकड़ो के करीब नहीं है। जिन हितग्राहियों के यहां सोलर पंप लग रहे हैं, उनसे अलग से वसूली हो रही है। बांधों से सिंचाई के प्रतिशत में लगातार कमी हो रहा है। 13 हजार हेक्टेयर सिंचाई क्षमता घुनघुट्टा बांध से है मगर केवल 2 से 3 हजार हेक्टेयर सिंचाई हो रही है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि अंत्योदय के तहत सरकार चना उपलब्ध नहीं करा पा रही है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में 5 लाख की बीमा राशि का राज्यांश सरकार घोषित करे। लोगों को हेल्थ कार्ड नहीं मिला। पहले खर्च करने के बाद आप कार्ड का इस्तेमाल सुनिश्चित करते हैं।

उन्होंने कहा कि मितानिनों के काम के अनुपात में कम से कम 2000 की बढ़ोतरी होनी थी। बीपीएल परिवारों से बिजली बिल नहीं लेने की बात कही थी। मगर चुनाव के पहले बजट में बीपीएल परिवारों को मुफ्त बिजली की घोषणा की उम्मीद थी मगर निराशा हाथ लगी।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सेनेटरी नेपकिन 3 से 10 लाख वाले गांव में ही क्यों, सभी गांव में इसकी व्यवस्था होनी थी । सारे स्कूलों में इसकी व्यवस्था होनी थी। इस दिशा में सरकार ध्यान दे प्रत्येक महिला बच्ची कवर हो ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए। स्कूलों में पढ़ाई तो दूर कम्प्यूटर नहीं है। 2008 से 13 के बीच कम्यूटर देने बात हुई थी। मगर स्कूलों में कम्प्यूटर नहीं है। ई-शिक्षा कागजों में न दिखे फील्ड में नजर आए।

नेता प्रतिपक्ष ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सुशासन में सरकार क्या कर रही है। कवर्धा में महिला के सर के बाल मुड़े जा रहे हैं। दबंग रायगढ़ में महिला की हत्या कर रहे हैं। बस्तर में रक्षाबंधन में स्कूलों के कार्यक्रम में क्या हो रहा है। ये कैसा सुशासन है जहां सिटीजन चार्टर का बोर्ड तक सरकारी कार्यालयों में नहीं है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जिस क्षेत्र से संबंधित आमदनी का जिला खनिज निधि में पैसा आ रहा है बस क्षेत्र में काम नहीं हो रहा है। बड़ी राशि हाथ में आई, उस राशि का उपयोग खनीज प्रभावित क्षेत्र में 50 फीसदी, ब्लाक में 25 बाकी जिले में 25 फीसदी उपयोग होना चाहिए। जो पैसा जहां उपयोग होना था वहां नहीं हो रहा है। कहीं भी पैसे की जरूरत है डीएमएफ पर सरकार नजर डालती है।

उन्होंने कहा कि 14वें वित्त आयोग की राशि विकास के लिए थी टावर खड़े करने के लिए नहीं है। टावर खड़ा करने का काम कम्पनियों के लिए था। यही आपत्ति मिनरल फंड के लिए था। आपके पैसे से टावर कंपनी को पैसे मिलेंगे तो सरकार का शेयर क्या है। रेल लाइन किसके हिस्से में है। आपके बनाये रेल लाइन से जब प्राइवेट कंपनी का उत्पाद इस रेल लाइन से जाएगा या नहीं यह स्पष्ट करें। क्या इसमे पैसेंजर ट्रेन चलेगी, क्या इसमें ट्रेन चलेगी यह स्पष्ट होना चाहिए

सिंहदेव ने कहा कि मदिरा, बिजली, पेट्रोलियम पर टैक्स आपके हाथ में है। पेट्रोल डीजल पर टैक्स क्यों नहीं हटाया। आपको वैट के रेट को कम करना था। हम चुनावी साल के बजट में बड़ी घोषणा या टैक्स में छूट के ब्रह्मास्त्र की आशा कर रहे थे, लेकिन जैसा 25 मई को चला था, वैसा ब्रह्मास्त्र नहीं चला। उन्होंने कहा कि बजट निराशाजनक रहा

देवेश तिवारी की रिपोर्ट

INH News


Title For Web: Chhattisgarh Assembly Budget Session: Sinhdeo said - White paper have to issue on government revenue and expenditure
Latest News INH News Chhattisgarh News Hindi News News in Hindi Local News Chhattisgarh Assembly Budget Session Chhattisgarh Assembly cg budget reactions 2018 cg budget analyisis 2018 cg budget highlights 2018 cg budget students 2018 cg budget womens 2018 cg budget berozgar 2018 cg budget farmers 2018 cg budget details 2018 cg budget youth 2018 cg budget health 2018 cg budget industries 2018 chhattisgarh budget reactions 2018 chhattisgarh budget analyisis 2018 chhattisgarh budget highlights 2018 chhattisgarh budget students 2018 chhattisgarh budget womens 2018 chhattisgarh budget berozgar 2018 chhattisgarh budget farmers 2018 chhattisgarh budget details 2018 chhattisgarh budget youth 2018 chhattisgarh budget health 2018 chhattisgarh budget industries 2018 budget 2018
Trending
1/50

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर