Breaking News
  • बीजापुर : मिलिशिया कमांडर अवलम मंगू गिरफ्तार, आईईडी प्लांट का मास्टर माइंड है नक्सली मंगू, जवानों को निशाना बनाने की फिराक में था नक्सली, पुलिस ने पालनार के जंगलों से अरेस्ट किया।
  • मुंगेली : 2 अलग सड़क हादसे में 3 लोग घायल, 1 बजुर्ग सहित 2 लोग हुए घायल, 1 को जिला अस्पताल में किया गया भर्ती, 2 बिलासपुर सिम्स रेफर, कोतवाली थाना क्षेत्र की घटना।
  • जांजगीर : पारिवारिक विवाद में पत्नी को छत से दिया धक्का, सट्टा और शराब का लती है गिरफ्तार पति, महिला की हालत गंभीर।
  • पटना : बिहार के सीएम नीतीश कुमार की जापान यात्रा पर पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कसा तंज, कहा- ‘शुरू हुई ढलान तो चच्चा चले जापान’।
  • नई दिल्ली : कोयला खनन में लगी सरकारी कंपनी CIL का एकाधिकार खत्म, केंद्र सरकार ने दी प्राइवेट कंपनियों को हरी झंडी।
  • नई दिल्ली : पीएनबी घोटाले पर बोले अन्ना हजारे, ‘देश को भ्रष्टाचारमुक्त नहीं बनाना चाहती सरकारें’।
  • काठमांडू : नेपाली पीएम केपी ओली का बयान, ‘भारत से और लाभ उठाने के लिए चीन से गहरा करना चाहते हैं रिश्ता’।

Lok Suraj 2018 : किसान ने लोक सुराज अभियान में दिया आवेदन; ‘मुआवजा देने पैसा नहीं तो सीएम 2 मीटर रस्सी ही दे दें, जिससे आत्महत्या कर सकूं’

By Sanjeet Tripathi

छत्तीसगढ़ खबर | Published On: 13 Jan, 2018 | 8:35 AM GMT 05:30+

Lok Suraj 2018 : किसान ने लोक सुराज अभियान में दिया आवेदन; ‘मुआवजा देने पैसा नहीं तो सीएम 2 मीटर रस्सी ही दे दें, जिससे आत्महत्या कर सकूं’

बिलासपुर : एक किसान जिसके पुरखों की जमीन सरकार ने अधिग्रहित कर ली हो, बदले में न उसे जमीन दी गई न ही मुआवजा मिला। सोचिये ऐसे में किसान गुहार लगाते-लगाते थक कर हताश होने के बाद क्या करेगा। उसने सीधे आत्महत्या की चेतावनी दे दी वह भी लोक सुराज अभियान के आवेदन पत्र में ही। मामला बिलासपुर के वन विभाग से जुड़ा है।

प्रदेश में लोक सुराज अभियान का पहला चरण शुरू हो चुका है। इसके तहत लोगों से उनकी समस्याएं और परेशानियों को लेकर आवेदन संग्रहण का काम चल रहा है। ऐसे ही एक संग्रहण शिविर में शनिवार को जो आवेदन आया उसे पढ़कर आवेदन संग्रहण कर रहे शासकीय कर्मियों के होश उड़ गए।

अपने आवेदन में कृषक दिलहरण लाल भार्गव ने कहा है कि उसके पूर्वजों की एक एकड़ जमीन वन विभाग ने अधिग्रहित कर लिया है। अधिग्रहण किए जाते वक्त उनसे वादा किया गया था कि उन्हें इसके बदले अन्य जगह जमीन मिलेगी, पर ऐसा हुआ नहीं। जबकि अन्य दो किसान जिनकी जमीनें भी अधिग्रहित की गई थीं, उन्हें बदले में दूसरी जगह जमीन दे दी गई। लेकिन दिलहरण लाल को आज तक बदले में जमीन नहीं दी गई।

दिलहरण लाल ने आवेदन में लिखा है कि वह इससे पूर्व 2015 और 2017 के लोक सुराज अभियान में आवेदन दे चुका है जिसका आज तक निराकरण नहीं हुआ हुआ है। उसने निवेदन किया है कि ‘उसे जमीन के बदले जमीन, या जमीन के बदले मुआवजा दिया जाए। उसने लिखा है कि ‘अगर किसान को मुआवजा देने के लिए पैसा नहीं है तो मुख्यमंत्री 2 मीटर रस्सी ही दे दें, ताकि अन्य किसानों की तरह आत्महत्या कर सकूं’।

संदीप करिहार की रिपोर्ट

INH News


Title For Web: Lok Suraj 2018 : Farmer's Application; 'If you can't pay the compensation, then CM give 2 meter rope for suicide'
Latest News INH News Chhattisgarh News Hindi News News in Hindi Local News Farmer Lok Suraj Abhiyan Lok Suraj 2018 CM Chief Minister
Trending
1/50

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर