Breaking News
  • बीजापुर : मिलिशिया कमांडर अवलम मंगू गिरफ्तार, आईईडी प्लांट का मास्टर माइंड है नक्सली मंगू, जवानों को निशाना बनाने की फिराक में था नक्सली, पुलिस ने पालनार के जंगलों से अरेस्ट किया।
  • मुंगेली : 2 अलग सड़क हादसे में 3 लोग घायल, 1 बजुर्ग सहित 2 लोग हुए घायल, 1 को जिला अस्पताल में किया गया भर्ती, 2 बिलासपुर सिम्स रेफर, कोतवाली थाना क्षेत्र की घटना।
  • जांजगीर : पारिवारिक विवाद में पत्नी को छत से दिया धक्का, सट्टा और शराब का लती है गिरफ्तार पति, महिला की हालत गंभीर।
  • पटना : बिहार के सीएम नीतीश कुमार की जापान यात्रा पर पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कसा तंज, कहा- ‘शुरू हुई ढलान तो चच्चा चले जापान’।
  • नई दिल्ली : कोयला खनन में लगी सरकारी कंपनी CIL का एकाधिकार खत्म, केंद्र सरकार ने दी प्राइवेट कंपनियों को हरी झंडी।
  • नई दिल्ली : पीएनबी घोटाले पर बोले अन्ना हजारे, ‘देश को भ्रष्टाचारमुक्त नहीं बनाना चाहती सरकारें’।
  • काठमांडू : नेपाली पीएम केपी ओली का बयान, ‘भारत से और लाभ उठाने के लिए चीन से गहरा करना चाहते हैं रिश्ता’।

Dhamtari : ग्राम खपरी और तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी गिरफ्त में, आईजी ने कहा- 'सेक्सुअल भूख के लिए ऐसा मर्डर केस पहली बार देखा'

By Sanjeet Tripathi

छत्तीसगढ़ खबर | Published On: 31 Jan, 2018 | 3:30 PM GMT 05:30+

Dhamtari : ग्राम खपरी और तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी गिरफ्त में, आईजी ने कहा- 'सेक्सुअल भूख के लिए ऐसा मर्डर केस पहली बार देखा'

रायपुर : धमतरी के ग्राम खपरी और तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। दोनों मामले में एक ही आरोपी है। इस मामले में पुलिस ने ग्राम तेलीनसत्ती के जितेन्द्र ध्रुव (30 वर्ष) को गिरतार किया है। इलाके में 11 महीने के अंतराल में 5 लोगों की हत्या हुई थी। आरोपी ने मोबाइल चोरी किया था, जिसकी वजह से वह पकड़ में आया। मामले का खुलासा करते हुए आईजी प्रदीप गुप्ता ने कहा कि सेक्सुअल  भूख के लिए ऐसा मर्डर का केस  पहली बार देखा।

मामले का खुलासा करते हुए आईजी प्रदीप गुप्ता और एसपी रजनेश सिंह ने बताया कि 16-17 अगस्त 2016 की रात अर्जुनी थाना अंतर्गत ग्राम खपरी में रह ने वाली रूामणी बाई पति मानसिंग बांडे (50 वर्ष) और उसकी बेटी पार्वती बांडे (20 वर्ष) खाना खाने के बाद अपने घर के कमरे में सोये थे। रातमें अज्ञात आरोपियों ने घर में अनाधिकृत प्रवेश कर पार्वती के साथ अनाचार किया। इसके बाद मां और बेटी पर धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया। इस मामले की जानकारी 18 अगस्त की शाम तब लगी जब पार्वती का भाई देवानंद घर पहुंचा। उसने देखा घर भीतर मां और बहन की लाश खून से लथपथ पड़ी है। देवानंद ने आसपास के लोगों एवं पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने मौके में पहुंचकर जांच की। इस मामले में पुलिस को भाई के ऊपर ही शक था। लेकिन जांच में अन्य तस्वीरों ने नया मोड़ दे दिया। घटनास्थल पर खून से सना फावड़ा बरामद किया गया था।

इसी तरह तेलीनसत्ती तिहरा हत्याकांड12-13 जुलाई 2017 की दरयानी रात ग्राम तेलीनसत्ती के महेन्द्र सिन्हा पिता रामसिंग  (38 वर्ष), उसकी पत्नी उषा सिन्हा (32 वर्ष), छोटा पुत्र महेश उर्फ लक्की (11 वर्ष) और बड़े पुत्र त्रिलोक उर्फ राजा (13 वर्ष) पर अज्ञात व्यक्ति ने वजनदार हथियार से वार किया जिससे मौके पर ही महेन्द्र, उसकी पत्नी और छोटे बेटे लक्की की मौत हो गई। जबकि महेन्द्र का बड़ा पुत्र त्रिलोक गंभीर रूप से घायल हो गया। उसकी एक आंख खराब हो गई। फिलहाल वह अपने मामा के घर रहता है। पुलिस ने इस मामले में पहले तो महेन्द्र के रिश्तेदार पर भी शक किया था। लेकिन ऐसा हत्या का कोई आधार नहीं बना।

ग्राम खपरी एवं तेलीनसत्ती में हुए 5 लोगों की हत्या के मामले में आरोपी कोई 2-3 नहीं बल्कि एक ही युवक जितेन्द्र पिता अवधराम ध्रुव (30 वर्ष) ग्राम तेलीनसत्ती निवासी है। जिसने पूरी प्लानिंग के साथ इन हत्याओं को अंजाम दिया। जितेन्द्र पेशे से मजदूर है। जितेन्द्र का आना-जाना दोनों परिवार में रहा। पुलिस को अपनी जांच में काफी माथा-पच्ची करनी पड़ी। इस मामले की तह तक जाने के लिए पुलिस ने साढ़े 3 लाख मोबाइल नंबरों को खंगाला। इसके अलावा तेलीनसत्ती, खपरी, भानपुरी, अर्जुनी, देमार, उसलापुर के समेत आसपास के गांवों के 20 से 30 वर्ष उम्र वाले युवकों की मतदाता सूची की जांच की गई। वोटर लिस्ट की जांच में 25 से 35 लोगों को चिन्हांकित कर एक-एक युवकों की गतिविधियों पर जानकारी रखने के लिए पुलिस को लगाया गया। 4 महीने तक पुलिस लगातार युवकों पर नजर रखे रही।

आरोपी जितेन्द्र ध्रुव जब ईंट ढुलाई का काम कर रहा था तब उसका आना-जाना खपरी में भी रहा। इसी बीच जितेन्द्र ध्रुव का संपर्क पार्वती से हो गया। दोनों के बीच संपर्क बढऩे के बाद लुक-छिपकर घर तक भी आना-जाना बढ़ गया। जितेन्द्र 16-17 अगस्त 2016 की रात जब खपरी में पार्वती के घर पहुंचा तब उसकी मां ने दोनों को संदिग्ध हालत में देख लिया। आरोपी ने बदनामी के भय से पहले पार्वती की मां रूखमणी बाई को मौत के घाट उतारा। कुछ देर बाद पार्वती की हत्या कर दी। पुलिस को जितेन्द्र पर शक नहीं हुआ। जिसके कारण वह बच रहा था।

आरोपी खपरी हत्याकांड को अंजाम देने के बाद सिन्हा दंपत्ति को भी मौत के घाट उतारने में पीछे नहीं हटा। आरोपी जितेन्द्र का महेन्द्र सिन्हा के घर आना-जाना था। चूंकि महेन्द्र की पत्नी उषा जेवर गिरवी रखने का काम करती थी। जिसकी जानकारी जितेन्द्र को भी थी। उसने योजना बनाई कि महेन्द्र सिन्हा के घर की आलमारी में रखे जेवरों की चोरी कर फरार होना है। जब वह जेवर चोरी कर रहा था तभी परिवार के सदस्य जाग गए और उसने सभी पर प्राणघातक हमला कर दिया। आरोपी हत्या को अंजाम देने के बाद उनके घर से करीबन ढाई लाख रूपए के सोना-चांदी लेकर भागने में भी कामयाब रहा।

Read more: Watch Video : जशपुर में स्वास्थ्य विभाग बांट रहा स्विट्ज़रलैंड में बनी मच्छरदानियां

खपरी-तेलीनसत्ती हत्याकांड का आरोपी जितेन्द्र ध्रुव मूलत: भोपाल का रहने वाला है। 4 साल पहले वह अपने मामा के घर तेलीनसत्ती आया था। शादी के बाद वह इतवारी सिन्हा के घर में किराये में रहता था। आरोपी जितेन्द्र और मृतक महेन्द्र सिन्हा के घर की दूरी महज एक फर्लांग है। इस दोनों अंधे हत्याकांड में आरोपी को ढूंढने में अर्जुनी थाना, सायबर सेल की संयुक्त टीम ने उल्लेानीय कार्य किया।

श्रिया पांडेय की रिपोर्ट

INH News


Title For Web: Dhamtari khapri and telinsatti double murder case accused arrested by police
Latest News INH News Chhattisgarh News Hindi News News in Hindi Local News Chhattisgarh Dhamtari khapri telinsatti murder case accused police IG SP Pradeep Gupta Rajnesh Singh
Trending
1/50

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर