Breaking News

छत्तीसगढ़ की संचार क्रांति योजना की गूंज ‘हार्वर्ड’ तक, अमन सिंह शामिल हुए कॉन्क्लेव में

By Sanjeet Tripathi

छत्तीसगढ़ खबर | Published On: 13 Feb, 2018 | 12:30 PM GMT 05:30+

छत्तीसगढ़ की संचार क्रांति योजना की गूंज ‘हार्वर्ड’ तक, अमन सिंह शामिल हुए कॉन्क्लेव में

रायपुर : अमेरिका के मैसाचुसैट्स शहर के कैंब्रिज स्थित हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में 10 और 11 फ़रवरी को हार्वर्ड कैनेडी स्कूल और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल द्वारा संयुक्त रूप से दो दिवसीय वार्षिक कांफ्रेंस ‘द इंडिया कॉन्फ्रेंस कॉन्क्लेव’ का आयोजन किया गया, इसमें छत्तीसगढ़ से मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के प्रमुख सचिव अमन सिंह शामिल हुए।

इस कांफ्रेंस में भारत और विदेश से ऐसे सबसे प्रभावशाली लोगो को आमंत्रित किया गया था, जो विश्व में भारत और भारत के विकास में सबसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा कर सके। दो दिवसीय कांफ्रेंस के विभिन्न सत्रों में कई वक्ताओं ने अपनी बात रखी।

मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन सिंह ने व्यापार और सरकार के मध्य तेजी से सहयोगविषय पर अपनी बात रखी। उन्होंने इस विषय पर सरकार के नियंत्रण और अधिनियमों के बीच के अंतर के बारे में बात करते हुए कहा कि आवश्यक अधिनियम के बिना भी अच्छे परिणाम प्राप्त किये जा सकते  है और ट्राई इसका एक सफल उदाहरण है।

अमन सिंह ने मानवीय विकास के लिए न केवल केवल बुनियादी अधोसंरचना विकास बल्कि सम्पूर्ण विकास में निजी क्षेत्र की भूमिका पर जोर दिया। उन्होंने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को बधाई देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में बेहतर मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए निजी क्षेत्र की सरकार के साथ भागीदारी का विचार मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह का रहा है। छत्तीसगढ़ में निजी क्षेत्र की भागीदारी के साथ राज्य सरकार की संचार क्रांति योजना के बेहतर क्रियान्वयन से ही मोबाइल कनेक्टिविटी को बेहतर किया गया है। यह सरकार और व्यापार के बीच पारदर्शी सहयोग की संभावना का एक उत्कृष्ट उदाहरण भी रहा है।

अमन सिंह ने कांफ्रेंस में कहा कि देश में मजबूत पैरवी कानूनों की आवश्यकता है जिससे कि आपसी सहयोग को और बेहतर और सम्मानजनक बनाया जा सके। व्यापार और सरकार के मध्य तेजी से सहयोगविषय पर हुए पैनल डिस्कशन में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन सिंह, महिंद्रा समूह के ग्रुप प्रेसिडेंट (स्ट्रेटजी) और ग्रुप एग्जीक्यूटिव बोर्ड के सदस्य अनीश शाह, रीन्यू पावर के संस्थापक अध्यक्ष और सीईओ सुमंत सिन्हा, एसयूएन ग्रुप के वाइस चेयरमैन शिव खेमका और यूआईडीएआई के सीईओ अजय भूषण पांडे शामिल हुए।

पैनल में बोलते हुए, अमन सिंह ने नियंत्रण और नियमन के बीच के अंतर के बारे में बात की और कहा कि आवश्यक अधिनियम के बिना भी आर्थिक स्वतंत्रता प्राप्त की जा सकती है और ट्राई इसका एक सफल उदाहरण है।

Read more: अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील : सुप्रीम कोर्ट ने अभिषेक सिंह के खिलाफ याचिका खारिज की

हार्वर्ड कैनेडी स्कूल और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल द्वारा संयुक्त रूप से दो दिवसीय वार्षिक कांफ्रेंस  “the India Conference conclave”  एक महत्वपूर्ण प्लेटफार्म है जहाँ विभिन्न देश के उद्योगपति, ब्यूरोक्रेट्स और गणमान्य नागरिक शिरकत करते है और मानवीय विकास से जुड़े कई मुद्दों, विषयों पर अपनी राय व्यक्त करते हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ के लिए यह गर्व का मौका था कि इस कांफ्रेंस में प्रमुख सचिव अमन सिंह को एक महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा करने के लिए आमंत्रित किया गया।

 

INH News


Title For Web: Chhattisgarh Sanchar Kranti Yojana's echo in 'Harvard', Aman Singh joined the Conclave
Latest News INH News Chhattisgarh News Hindi News News in Hindi Latest News Chhattisgarh Sanchar Kranti Yojana Chhattisgarh CM Raman CM Dr Raman Singh Aman Singh Harvard Harvard University Conclave
Trending
1/50

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर