ब्रेकिंग न्यूज़
  • सपा के खिलाफ बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, पार्टी का पंजीकरण रद्द करने की मांग
  • जल्द ही भारत में तैयार होगी ओमिक्रॉन वैक्सीन, ये कंपनी कर रही तेजी से काम
  • Ashes 2022: ऑस्ट्रेलिया ने जमाया एशेज सीरीज पर कब्जा, इंग्लैंड को दी 146 रनों से शिकस्त
  • उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह भाजपा से निष्कासित
  • Twin Tower : नोएडा में ट्विन टावर को मुंबई की कंपनी गिराएगी
  • आज वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम को PM Modi करेंगे संबोधित, जानें कौन-कौन से देश लेंगे हिस्सा
  • पिछले 24 घंटे में 2 लाख 58 हजार कोरोना के नए मामले, देशभर में सक्रिय मरीज 16 लाख तो 385 की मौत

छत्तीसगढ़

  • खेत में काम करने के दौरान पलटा ट्रैक्टर, इंजन के नीचे दबने से किसान की मौत

    खेत में काम करने के दौरान पलटा ट्रैक्टर, इंजन के नीचे दबने से किसान की मौत

    जांजगीर/चाम्पा: सीमावर्ती सारागांव थाना क्षेत्र के लखाली के एक व्यक्ति की खेत में काम करते समय ट्रैक्टर पलटने से मौत हो गई। मिली जानकारी अनुसार किसान खेत में जुताई कर रहा था। उसका ट्रैक्टर पलट गया, वह उसके नीचे दब गया। निकट ही मौजूद ग्रामीणों को पता चला तो वह तुरंत मौके पर पहुंचे। उन्होंने स्थानीय युवाओं की मदद से उसे निकाल कर जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव वारिसों को सौंप दिया गया। पुलिस ने मामला दायर कर लिया है।

    बताया गया है की किसान रबी फसल के लिए खेत की जुताई कर रहा था, खेत में पानी भरा होने से ट्रेक्टर के पहिये स्लिप हो गए जिससे ट्रेक्टर पलट गया।
     

    और भी...

  • पेट्रोलिंग टीम पर हमला, सिपाही पर घोंपा चाकू, भाजपा नेता समेत 4 आरोपी गिरफ्तार

    पेट्रोलिंग टीम पर हमला, सिपाही पर घोंपा चाकू, भाजपा नेता समेत 4 आरोपी गिरफ्तार

    भिलाई. पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी पर हमला मामले में भाजपा नेता प्रवीण विश्वाल समेत 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. भिलाई में स्मृति नगर के सूर्या माल के पास हंगामा किए जाने की जानकारी मिलने पर बीती रात मौके पर पहुंचे पुलिस वालों से कुछ आरोपियों ने मारपीट की. एक आरोपी ने स्मृति नगर चौकी के एक सिपाही पर धारदार हथियार से जानलेवा हमला कर दिया. घटना के बाद सिपाही को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

    वहीं आज सोमवार की सुबह पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. उनके खिलाफ गाली गलौज, मारपीट और हत्या का प्रयास की धाराओं के तहत कार्रवाई की गई है. आरोपियों में एक भाजपा नेता प्रवीण विश्वाल भी शामिल है. वो हाल ही में हुए निगम चुनाव में भाजपा की टिकट से पार्षद का चुनाव भी लड़ चुका है. लेकिन वे चुनाव हार गए. प्रवीण विश्वाल भाजपा के जिला महामंत्री बताये जा रहे हैं.

    जानकारी के मुताबिक रविवार की रात को सूर्या माल चौक जुनवानी के पास कुछ लड़के आपस में विवाद कर रहे थे. इसकी जानकारी लगने पर इसमें स्मृति नगर चौकी के सिपाही सविंदर सिंह, विवेक सिंह, राधेश्याम चंद्राकर, तुषार और जी लक्ष्मी वहां पहुंचे. उन्होंने विवाद कर रहे लोगों को समझाइश देने की कोशिश की तो आरोपियों ने सिपाहियों से विवाद शुरू कर दिया.

    और भी...

  • झारखंड में शराब की बिक्री बढ़ाने में मदद करेगा छत्तीसगढ़, कवासी लखमा बोले- हम मदद के लिए तैयार...

    झारखंड में शराब की बिक्री बढ़ाने में मदद करेगा छत्तीसगढ़, कवासी लखमा बोले- हम मदद के लिए तैयार...

    रायपुर. झारखंड सरकार को छत्तीसगढ़ की नई शराब नीति काफी पसंद आई है. छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कंपनी लिमिटेड कंसल्टेंसी अब झारखंड में सेवाएं देगी. छत्तीसगढ़ की तर्ज पर अब झारखंड में भी शराब की खरीदी व बिक्री को लेकर नई नीति लागू की जा सकती है.

    छत्तीसगढ़ के आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि हमारी सरकार के अधिकारियों से झारखंड सरकार की बातचीत हो रही है. वहां छत्तीसगढ़ की शराब नीति को लागू किया जा सकता है. हमारी सरकार झारखंड सरकार की मदद के लिए तैयार हैं.

    आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने कहा कि झारखंड सरकार ने छत्तीसगढ़ की बहुत सी योजनाओं को सराहा है. यदि वे मदद मांगे तो हम करेंगे, सुझाव भी देंगे. ऐसी जानकारी है झारखंड सरकार शराब नीति को लेकर हमसे मदद लेगी. झारखंड सरकार की हमारे अधिकारियों से बात हो रही है. नियमानुसार जो भी संभव मदद होगी की जाएगी.

    बता दें कि छत्तीसगढ़ में सरकार द्वारा ही अंग्रेजी और देशी शराब की बिक्री की जा रही है. नई सरकार आने के बाद शराब बिक्री को लेकर कई नए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं. कोरोना काल में शराब की ऑनलाइन बिक्री भी प्रदेश में शुरू की गई है. छत्तीसगढ़ की नई शराब नीति की चर्चा पूरे देश में हो रही है. बताया जा रहा है कि झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार को भी छत्तीसगढ़ की शराब नीति पसंद आई है.

    और भी...

  • पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट राजनांदगांव बना नंबर 1: मिली यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी

    पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट राजनांदगांव बना नंबर 1: मिली यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी

    रायपुर: भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ पुलिस को एक और पुरस्कार से नवाजा गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा वर्ष 2020-21 हेतु सेंट्रल जोन के लिए पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट राजनांदगांव को बेस्ट पुलिस ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के लिए यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी प्रदान करने की घोषणा की गयी है।

    इस ख़बर से स्थानीय शासन प्रशासन के साथ ही समस्त प्रदेश के पुलिस महकमे और आमजनों में हर्ष व्याप्त है।

    और भी...

  • फिर शुरू हुई धान खरीदी, मंत्री भगत ने कहा मौसम खुला है पूरी गति के साथ होगी धान खरीदी

    फिर शुरू हुई धान खरीदी, मंत्री भगत ने कहा मौसम खुला है पूरी गति के साथ होगी धान खरीदी

    रायपुर: छत्तीसगढ़ में आज से फिर शुरू हुई धान खरीदी। मंत्री अमरजीत भगत ने धान खरीदी को लेकर कहा आज से मौसम खुला है, पूरी गति के साथ धान की खरीदी होगी। मुख्यमंत्री ने पहले ही कहा कि चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है, अभी हमारे पास समय है। यदि 30 तारीख तक लक्ष्य पूरा हो जाएगा तो अतिरिक्त व्यवस्था की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

    सीएम के ऊपर एफआईआर पर बोले मंत्री भगत

    पूरे हिंदुस्तान में जो नीति चल रही हो वो सबके सामने है। वो करे तो सब सही दूसरा करें तो गलत, कोविड की गाइड लाइन पालन कर मुख्यमंत्री ने प्रचार किया। भाजपा के नेता प्रचार में भीड़ लगाते है, वो उनको नहीं दिखता, उन पर कार्रवाई क्यों नहीं होती, पीएम मोदी और योगी आदित्यनाथ ने भी सैकंड वेव के दौरान बड़ी बड़ी रैलियां की उन पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई। यह पक्षपात उचित नहीं है।

    भाजपा के प्रदर्शन पर बोले मंत्री

    भाजपा के प्रदर्शन पर भी मंत्री अमरजीत ने बयान देते हुए कहा। भाजपा के लोग जरा पीएम मोदी से भी पूछ लेते, कि उन्होंने कितने लोगों को रोजगार दिए, छत्तीसगढ़ में विभिन्न माध्यमों से रोजगार उत्पन्न हुए। यहां के जीडीपी में भी ग्रोथ हुआ है। लेकिन भाजपा लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है। जहां ये कमजोर दिखने लगते हैं, हिंदू-मुस्लिम शुरू कर देते हैं। धर्मांतरण का नारा देने लगते हैं। छत्तीसगढ़ में इनकी चल नहीं रही है, यहां के कर्मचारियों के वेतन में भी कटौती नहीं हुई। इसलिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं।

    केंद्र के उसना चावल नहीं लेने पर मंत्री ने कहा

    केंद्र के उसना चावल नहीं लेने पर मंत्री ने कहा राइस मिल में जो लेबर लगे हैं उनको अनदेखी कर केंद्र सरकार फरमान जारी कर रही है। पंजाब, उड़ीसा, हरियाणा समेत तमाम राज्यों के लिए उसना चावल मान्य किया गया है। हम कोशिश कर रहे हैं कि छत्तीसगढ़ के उसना चावल को भी केंद्र सरकार मंजूरी दे। मुख्यमंत्री ने पहले ही कहा है कि हम किसानों के साथ खड़े हैं उनका धान खरीदा जाएगा।

    और भी...

  • टीकाकरण के एक साल पूरे : 9 महीने में कीर्तिमान, 66 करोड़ पूर्ण वैक्सीनेशन...

    टीकाकरण के एक साल पूरे : 9 महीने में कीर्तिमान, 66 करोड़ पूर्ण वैक्सीनेशन...

    रायपुर. टीकाकरण के एक साल पूरे हो चुके हैं. पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने टीकाकरण के बारे में सिलसिलेवार जानकारी दी. अजय चंद्राकर ने कहा कि 16 जनवरी को टीकाकरण की शुरुआत हुई. आज एक साल पूरा हुआ है. टीकाकरण की दृष्टि से क्रमवार देखा जाए तो सबसे पहले पीएम ने देश के डॉक्टर्स, फ्रंटलाइनर्स ने वह कर दिखाया जिसकी उपलब्धि पूरी दुनिया मान रही है. इसका कारण यह है कि जब कोरोना की पहली लहर आई तब किसी को इससे निपटने का तरीका नहीं पता था. देश का एक वर्ग सिर्फ इसकी आलोचना करता था. लेकिन सारी आलोचनाओं को दरकिनार करते हुए भारत ने एक कीर्तिमान बनाया. टीकाकरण में 157 करोड़ को पहला, 66 करोड़ पूर्ण वैक्सीनेशन हो चुके हैं. ग्रामीण इलाकों में 99 करोड़, फ्रंटलाइन 60 से ऊपर वालों को बूस्टर डोज 11 करोड़, 15 से 18 साल वालों को 10 दिनों में 3 करोड़ वैक्सीन लगा.सितंबर में 24 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगी.

    पीएम के जन्मदिन पर 1 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगी. भारत ने सिर्फ 9 महीने में टीकाकरण में इतिहास रचा. भारत में टिटनेस का टीका 54 साल बाद शुरू हुआ, लेकिन दृढ़ निश्चय के रूप में बाधाओं को दूर करके 30 बैठकें लेकर पूरी दुनिया में वैक्सीनेशन में दुनिया में नेतृत्व कर रहा है. भारत में टीकाकरण को लेकर आगे भी ऐसी ही उम्मीद करते हैं. छत्तीसगढ़ में अगर टीकाकरण हुआ है तो उसका श्रेय प्रधानमंत्री को जाता है. विपक्ष सिर्फ विरोध में लगा रहा. अखिलेश यादव ने तो भाजपा की वैक्सीन बताई थी. समाजवादी की वैक्सीन बनाने की बात करते थे.

    शशि थरूर ने तो वैज्ञानिकों की सफलता तक पर भी सवाल उठाए. इसके बाद भी सरकार अपने रास्ते पर चलती रही. उसके बाद विपक्ष के स्वर बदले. 17 सितंबर को वैक्सीन को लेकर जो मीटिंग हुई जिसमें छग और बंगाल के सीएम शामिल नहीं हुए. ऐसे विपक्ष कभी नही देखा. वैक्सीन को रोककर रखने वाले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मानवता के अपराधी हैं.

    देश में छग के एक मात्र मुख्यमंत्री है जिन्होंने सेस लगाया लेकिन किसी को हिसाब नहीं बताया. चंद्राकर ने सरकार से सवाल पूछते हुए कहा कि पहली, दूसरी और तीसरी लहर आ गई तो सेस का पैसा कहां है. मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने छग के जनजीवन को खतरे में डाला. रोड सेफ्टी सीरीज कहीं नहीं हुई लेकिन उसको छग में कराया गया. छग में कोरोना को नियंत्रण करने के बजाय बढ़ावा दिया गया. केंद्र से जो ऑक्सीजन मिले उसको मेंटेन करने तक के लिए पैसा नही है.

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर उत्तर प्रदेश में हुई एफआईआर मामले पर बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि चुनाव, आयोग के नियंत्रण में होता है. निर्वाचन आयोग द्वारा जो दिशा निर्देश दिए गए हैं उसका पालन किया जाना चाहिए. मुख्यमंत्री के सवाल पर अजय चंद्राकर ने कहा कि चुनाव आयोग सभी प्रचार की वीडियोग्राफी कराता है.

    और भी...

  • पूर्व सीएम ने कसा तंज, कहा- युवाओं को ठगने अब रोजगार मिशन का जुमला..

    पूर्व सीएम ने कसा तंज, कहा- युवाओं को ठगने अब रोजगार मिशन का जुमला..

    रायपुर. पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह ने राज्य सरकार पर जमकर निशाना साधा है. डॉ रमन सिंह ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस की ये समितियां "धोखा नीतियां" हैं. यह सिर्फ लटकाने, भटकाने का काम करती हैं.

    शराबबंदी के लिये अध्ययन समिति बनाई लेकिन 3 साल बाद भी क्या हुआ?. पुलिसकर्मियों के लिए हाई पावर कमेटी बनाई क्या हुआ अब तक? पूर्व सीएम ने आगे कहा कि राज्य सरकार अब युवाओं को ठगने रोजगार मिशन का जुमला लेकर आई है.

    बता दें कि छत्तीसगढ़ में आगामी पांच वर्षों में 12 से 15 लाख नए रोजगार के अवसरों का सृजन करने के लिए रोजगार मिशन के गठन का निर्णय लिया है. इस मिशन के अध्यक्ष मुख्यमंत्री भूपेश बघेल होंगे.

    मुख्य सचिव अमिताभ जैन इसके उपाध्यक्ष और प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला मिशन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी होंगे. लघु वनोपज संघ के प्रबंध संचालक सहित विभिन्न वरिष्ठ अधिकारी इसके सदस्य के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे. रोजगार मिशन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एक महीने में सभी विभागों के साथ मिलकर रोजगार मिशन के गठन की कार्ययोजना प्रस्तुत करेंगे.

    और भी...

  • मैनपाट की ओर अवैध गांजा खपाने जा रहे दो युवक चढ़े पुलिस के हत्थे

    मैनपाट की ओर अवैध गांजा खपाने जा रहे दो युवक चढ़े पुलिस के हत्थे

    सीतापुर: पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि बाइक सवार दो युवक अवैध रूप से गांजा खपाने मैनपाट की ओर जा रहे हैं।

    इस सूचना के बाद पुलिस ग्राम सुर के पास नाकेबंदी कर पुलिस ने शंका के आधार पर प्लास्टिक बोरा लाद कर जा रहे बाइक सवार दो युवकों को रोका और उनकी तलाशी ली। तलाशी के दौरान युवकों के पास से साढ़े चार किलो अवैध रूप से रखा गांजा बरामद हुआ जिसका बाजार भाव 54 हजार रुपये बताया जा रहा है। पुलिस बरामद गांजा एवं बाइक समेत गिरफ्तार दोनों युवकों को थाने लेकर आई और उनके विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट की धारा 20B के तहत कार्रवाई करते हुए जेल भेज दिया।

    और भी...

  • 7 वर्षीय मासूम बालिका के साथ दुष्कर्म के आरोपी को फांसी दिलाने भाजपा महिला मोर्चा ने निकाली रैली

    7 वर्षीय मासूम बालिका के साथ दुष्कर्म के आरोपी को फांसी दिलाने भाजपा महिला मोर्चा ने निकाली रैली

    कुरूद: यहां 41 वर्षीय आरोपी महेश ओझा ने 7 साल की मासूम से दुष्कर्म किया। इस घटना से गुस्साए लोगों ने भाजपा महिला मोर्चा के नेतृत्व में आरोपी को फांसी की सजा दिलाने की मांग को लेकर कुरूद में रैली निकाली। रैली नगर के विभिन्न मार्गों से होकर गुजरी जहां महिलाओं ने हाथों में तख्ती लेकर दुष्कर्म के आरोपी को फांसी दो, अवैध शराब की बिक्री बंद हो, प्रदेश में जंगलराज समाप्त करो आदि के शासन-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और एसडीएम कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा।

    इस रैली में शामिल महिलाओं ने बताया कि मासूम बच्ची के साथ दरिंदगी करने वाले आरोपी को फांसी पर लटकाने की मांग की गई है। बच्ची के साथ घिनौनी हरकत करने वाले को समाज में जीने का अधिकार नहीं है। रैली में महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष कुरुद जागृति साहू सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।

    और भी...

  • इस जिले की सभी शिक्षण संस्थाएं और छात्रावास बंद, शासकीय कार्यालयों में जनता के प्रवेश पर प्रतिबंध

    इस जिले की सभी शिक्षण संस्थाएं और छात्रावास बंद, शासकीय कार्यालयों में जनता के प्रवेश पर प्रतिबंध

    कोण्डागांव: जिले में कोविड–19 पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के कारण को देखते हुए कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा द्वारा आदेश जारी कर एहतियात के तौर पर जिले के सभी स्कूल एवं छात्रावासों को बंद करने का निर्णय लिया गया है।

    जिले के समस्त शासकीय एवं अशासकीय शिक्षण संस्थान तथा इनमें अध्ययनरत छात्र–छात्राओं के आश्रम, छात्रावास, आंगनबाड़ी केन्द्र, लाइब्रेरी एवं कोचिंग संस्थान आगामी आदेश पर्यन्त बंद करने को कहा गया है। इन कक्षाओं का संचालन अब ऑनलाइन माध्यम से किया जायेगा। कोविड वैक्सीनेशन के लिए 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों को स्कूल परिसर में कोविड गाइड लाइन एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए वैक्सीनेशन किया जायेगा। समस्त शासकीय कार्यालय कार्यरत तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की एक तिहाई उपस्थिति के साथ संचालित किए जाएंगे। उपस्थिति के संबंध में प्रभारी अधिकारी द्वारा रोस्टर तैयार किया जायेगा। कार्यालय में उपस्थित कर्मचारियों के अलावा शेष कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम पद्धति से कार्य करेंगे। आवश्यकता पड़ने पर कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थित होना अनिवार्य होगा। समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी बिना पूर्वानुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे एवं सभी कर्मचारियों को मोबाईल के माध्यम से अपने प्रभारी अधिकारी के संपर्क में रहना आवश्यक होगा। कार्यालय में उपस्थित अधिकारी एवं कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से फेस मास्क, सैनेटाइजर, फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को कोविड–19 के दोनों टीका लगवाना अनिवार्य होगा।

    इन स्थानों पर भीड़ न हो

    जिले के समस्त साप्ताहिक हाट–बाजार एवं डेली मार्केट में दुकान, पसरा लगाने की व्यवस्था को फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ ही कराया जाएगा। किसी भी स्थिति में इन स्थानों पर भीड़ न हो, इसकी सतत निगरानी नगर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में नगरीय निकाय तथा जनपद पंचायत के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही कलेक्टर ने जिले में चिकित्सा सेवाएं, वाटर सप्लाई, स्वच्छता, बिजली आपूर्ति, अग्निशमन सेवाएं, कानून व्यवस्था एवं अन्य अत्यावश्यक सेवाओं को निरंतर जारी रखने तथा इन सेवाओं में वर्क फ्रॉम होम पद्धति लागू नहीं करने के भी निर्देश दिए हैं।

    इन सभी संस्थाओं में न्यूनतम उपस्थिति

    समस्त निजी संस्थाएं एवं केन्द्र शासित कार्यालय जैसे बैंक, डाकघर, बीमा, फायनेंस कंपनी इत्यादि में भी न्यूनतम उपस्थिति सुनिश्चित करते हुए आवश्यकतानुसार वर्क फ्रॉम होम पद्धति से कार्य कराया जाएगा। इन संस्थानों में आगंतुकों के लिए कार्यालय द्वारा यथासंभव टेंट एवं बैठक व्यवस्था सुनिश्चित करना होगा। किसी भी स्थिति में भीड़ ना करते हुए फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।

    ग्राहकों को फेस मास्क सैनेटाइजर एवं डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य

    सार्वजनिक प्रतिष्ठानों एवं व्यावसायिक संस्थानों में कर्मचारियों की न्यूनतम उपस्थिति के साथ समस्त कर्मचारियों को तथा आगंतुक ग्राहकों को फेस मास्क, सैनेटाइजर एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। उल्लंघन की दशा में राजस्व एवं नगरीय निकाय के अधिकारी, पुलिस विभाग के सहयोग से चालानी कार्रवाई की जाएगी।

    और भी...

  • बिलासपुर में तीन और ओमिक्रॉन मरीज, अब तक कुल आठ केस, स्वस्थ होने के बाद मिली जांच रिपोर्ट

    बिलासपुर में तीन और ओमिक्रॉन मरीज, अब तक कुल आठ केस, स्वस्थ होने के बाद मिली जांच रिपोर्ट

    रायपुर/बिलासपुर: कोरोना पॉजिटिव आने के बाद नए वैरिएंट की जांच के लिए भुवनेश्वर लैब भेजे गए बिलासपुर के तीन लोगों में ओमिक्राॅन की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य विभाग को इनकी रिपोर्ट जब मिली, तब तक तीनों स्वस्थ हो चुके थे। इन्हें मिलाकर प्रदेश में आठ लोगों ओमिक्रॉन का पता चला है, इन आठ में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी शामिल हैं।

    बिलासपुर के तीन लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि

    स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता डॉ. सुभाष मिश्रा ने बिलासपुर के तीन लोगों को ओमिक्रॉन होने की पुष्टि की है, मगर यह पता नहीं चल पाया कि संक्रमित होने वाले विदेश से वापस लौटे थे अथवा उन तक वायरस स्थानीय तौर किसी के संपर्क में आने की वजह से पहुंचा था। तीनों की रिपोर्ट जब तक स्वास्थ्य विभाग तक पहुंची, तब तक वे स्वस्थ हो चुके थे। इन्हें मिलाकर भुवनेश्वर लैब से आठ सैंपल में ओमिक्रॉन की पुष्टि हो चुकी है। सबसे पहला ओमिक्रॉन का मामला बिलासपुर जिले में ही सामने आया था, उस दौरान सउदी अरब से लौटे एक शिक्षक को संक्रमित पाया गया था। उसकी रिपोर्ट भी काफी देर से मिली थी। इसके बाद कुछ दिन पहले स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव सहित चार लोगों को रायपुर में ओमिक्रॉन पॉजिटिव पाया गया था। इनकी रिपोर्ट भी जब तक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों तक पहुंची, तब तक सभी स्वस्थ हो चुके थे। प्रदेश में कोरोना के जो लक्षण अभी सामने आ रहे हैं, वे ओमिक्रॉन के हैं। आला-अफसर और विशेषज्ञ इसे स्वीकार करते हैं।

    रायपुर में संक्रमण दर 28 प्रतिशत

    प्रदेश में कोरोना की संक्रमण दर 12.17 प्रतिशत है, मगर रायपुर में यह 28 प्रतिशत के आसपास है। लगातार तीसरे दिन कोरोना के मामले रायपुर जिले में कम रिकार्ड किए गए। रविवार अवकाश होने की वजह से सैंपलिंग भी थोड़ी प्रभावित हुई, मगर आंकड़ा कम होने की वजह से लोगों ने राहत की सांस ली। रविवार को कोरोना संक्रमितों के मामले में रायपुर जिले का आंकड़ा पहली से लेकर तीसरी लहर में अब तक पौने दो लाख तक पहुंच चुका है। इस बात की संभावना है कि सोमवार को संख्या इसके पार हो जाएगी। कोरोना ने शहरभर में अपनी मौजूदगी दिखाई। सबसे ज्यादा 30 मामले शंकर नगर में सामने आए, वहीं ग्रामीण इलाके यानी अभनपुर में 44 लोगों को संक्रमित पाया गया। तिल्दा ब्लाक में भी केस मिले और शहरभर में कोरोना के मामले निकले। रायपुर जिले में हुई कुल दो मौत के बाद अब तक जान गंवाने वालों की संख्या 3163 हो गई है।

    इन जिलों में पॉजिटिव

    प्रदेश में कुल 3963 केस सामने आए, वहीं ठीक होने वालों की संख्या 3303 रही, जिसके बाद एक्टिव केस 32 हजार 792 हो गए। रविवार को दुर्ग में 511, कोरबा 328, बिलासपुर 301, रायगढ़ 293, राजनांदगांव में 200, जशपुर 173, जांजगीर-चांपा 166, सरगुजा 137 तथा अन्य जिलों में इससे कम मामले सामने आए।

    और भी...

  • खुले सीवर में गिरा आठ साल का मासूम, क्रिकेट खेल रहे बच्चों ने सूझबूझ से बचाया

    खुले सीवर में गिरा आठ साल का मासूम, क्रिकेट खेल रहे बच्चों ने सूझबूझ से बचाया

    रायपुर: कमल विहार सेक्टर- 2 में एक आठ साल का बच्चा खेलते-खेलते 10 फीट गहरे सीवर में गिर गया, बच्चे की आवाज सुनकर वहीं पास में क्रिकेट खेल रहे तीन बच्चों ने सूझबूझ का परिचय देते हुए उसे सीवर से सकुशल बाहर निकाला। घटना शनिवार की है। इस पूरे मामले को लेकर आरडीए उपाध्यक्ष शिव सिंह ठाकुर ने बताया कि सीवर में लगे लोहे की ढक्कन को अज्ञात चोरों ने पार कर दिया था, सीवर में ढक्कन नहीं होने की वजह से घटना घटित हुई है। बच्चों ने बताया, लालपुर निवासी आर्यन निषाद सीवर में गिर गया। इसके बाद पास में क्रिकेट खेल रहे कुंदन नायक, हिमांशु तथा एक अन्य बालक ने मौके पर पहुंचकर आर्यन को सीवर से बाहर निकाला। बच्चों के मुताबिक मौके पर समय से पहुंचने की वजह से आर्यन को किसी तरह से चोट नहीं लगी है। आर्यन एक पाइप के सहारे सीवर के अंदर लटका था।

    हाथ की चेन बनी सहारा

    कुंदन के मुताबिक आर्यन की आवाज सुनकर वह सबसे पहले सीवर के करीब पहुंचा। इसके बाद उसने जमीन में लेटकर अपना हाथ नीचे किया। हाथ में पहनी चेन को आर्यन ने पकड़ लिया। इसके बाद हिमांशु ने बल्ले को हैंडल की तरफ से नीचे किया। इसके बाद आर्यन ने बल्ले के हैंडल तथा चेन को पकड़कर ऊपर आने की कोशिश की। तभी वहां मौजूद एक अन्य लड़के ने आर्यन का हाथ थामकर सीवर से बाहर निकाला।

    और भी...

  • तीसरी लहर: सात सौ बच्चे पॉजिटिव, रायपुर जिले में साढ़े 14 हजार संक्रमित, सवा दो सौ लोग अस्पतालों में

    तीसरी लहर: सात सौ बच्चे पॉजिटिव, रायपुर जिले में साढ़े 14 हजार संक्रमित, सवा दो सौ लोग अस्पतालों में

    रायपुर: बच्चों को वैक्सीन लगाने का प्रावधान नहीं होने की वजह से हाईरिस्क में शामिल सात सौ बच्चे (0-15 वर्ष) तीसरी लहर के दौरान पखवाड़ेभर में कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। अच्छी बात ये है कि इसमें से एक बच्चे को छोड़कर बाकी को संक्रमण की वजह से अस्पताल जाने की नौबत नहीं पड़ी। एक साल का जो बच्चा अस्पताल पहुंचा, वह गंभीर बीमारी से पीड़ित था और उसकी जान चली गई। स्वास्थ्य विभाग इस बात को लेकर राहत की सांस ले रहा है कि कोरोना इस बार जानलेवा नहीं हुआ है। खासकर जो बच्चे कोरोना के शिकार हुए हैं, उनमें से लगभग सभी घर में ही रहकर इस वायरस को हराने में सफल साबित हुए हैं। लहर की शुरुआत के पहले विशेषज्ञ इस बात की आशंका जता रहे थे कि वैक्सीनेशन नहीं होने की वजह से बच्चों पर कोरोना भारी पड़ेगा। जनवरी से केस बढ़े तो संक्रमितों की सूची में एक से लेकर पंद्रह साल के बच्चे भी शामिल हुए। बच्चों की संख्या अधिक होने की आशंका के आधार पर उपचार के लिए आयुर्वेदिक अस्पताल में आईसीयू और वेंटिलेटर की व्यवस्था भी की गई थी। साथ ही इंडोर स्टेडियम को भी एक विकल्प के रूप में रखा गया था। विभागीय सूत्र इसे बड़ी राहत मानते हैं कि अब तक बच्चों को अस्पताल में भर्ती करने की नौबत नहीं आई। एक बच्चा, जो दूसरी बीमारी के इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती हुआ था, उसे कोरोना संक्रमित पाया गया था और बाद में उसकी मौत हो गई।

    शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. निलय मोझरकर के मुताबिक कोरोना का वायरस इस बार सर्दी-खांसी का ही रूप दिखा रहा है। पिछली बार की तरह यह फेफड़े तक पहुंचकर निमोनिया या अन्य साइड इफेक्ट पैदा नहीं कर रहा है। बच्चे संक्रमित हो रहे हैं, मगर ज्यादातर जल्दी ही बिना किसी परेशानी के स्वस्थ हो जा रहे हैं। आयुर्वेदिक काॅलेज स्थित बच्चों के अस्पताल में अब तक एक भी बच्चा संक्रमित होकर इलाज के लिए नहीं पहुंचा है।

    और भी...

  • इधर खाट पर ढोए जा रहे मरीज... उधर एंबुलेंस लेकर पिकनिक मनाने गए डॉक्टर

    इधर खाट पर ढोए जा रहे मरीज... उधर एंबुलेंस लेकर पिकनिक मनाने गए डॉक्टर

    कोरिया: एंबुलेंस में पिकनिक मनाने जाना डॉक्टर-स्वास्थ्य कर्मियों को महंगा पड़ गया। नर्सरी में एंबुलेंस देखकर ग्रामीण पहुंचे और पिकनिक की बात सुनकर भड़क गए। ऐसे में वहां से डॉक्टर-स्वास्थ्य कर्मियों को भागना पड़ा।

    गौरतलब है कि जिले में कई मर्तबा खाट पर मरीजो को ढोने की तस्वीर सामने आने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का आलम ये तस्वीरें बया कर रही है। कोरिया जिले में मरीजों को अस्पताल तक पहुंचाने की बजाय एंबुलेंस डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पिकनिक मनाने के काम आ रही हैं। मरीजों को ले जाने वाली एम्बुलेंस में पिकनिक के लिए बर्तन और सामान ढोये जा रहे हैं। जिले के केल्हारी के उप स्वास्थ्य केंद्र के अस्पताल का एंबुलेंस 90 किलोमीटर दूरी का सफर तय कर पिकनिक मनाने के काम आ रहा है। सुबह 10 बजे से एंबुलेंस पिकनिक स्थल हसदेव नर्सरी पर खड़ी रही। स्वास्थ्य कर्मी व डॉक्टर पिकनिक मानते रहे। शाम 5 बजे के बाद एंबुलेंस पिकनिक के बर्तन और सामान लेकर चलती बनी।

    बिल्कुल गलत

    पिकनिक जाना गलत नही है लेकिन, पिकनिक में एंबुलेंस लेकर जाना बिल्कुल गलत है। मैं बीएमओ को शोकाज नोटिस देने के लिए कहा हूं।

    -डॉक्टर रामेश्वर शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, कोरिया

    और भी...

  • छग की लड़की से इंदौर में डेढ़ महीने तक गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा, अंगों को काटा

    छग की लड़की से इंदौर में डेढ़ महीने तक गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा, अंगों को काटा

    बेमेतरा: पीड़िता छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिला की रहने वाली है। इंदौर पुलिस ने छत्तीसगढ़ की पीड़ित युवती की शिकायत पर बिल्डर राजेश विश्वकर्मा, उसके साथी और उसके नौकर के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया है। युवती ने राजेश के अलावा अंकेश बघेल, विवेक, विपिन भदौरिया और एक अन्य व्यक्ति के नाम का खुलासा किया है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दो अन्य की तलाश जारी है।

    पुलिस के मुताबिक राजेश विश्वकर्मा पेशे से बिल्डर है। मैट्रिमोनियल साइट पर उसका परिचय बेमेतरा, छतीसगढ़ की युवती से हुआ। आरोपी बिल्डर राजेश विश्वकर्मा ने उसके साथ शादी का दिखावा किया और उसे अपने साथ इंदौर ले आया। आरोपी ने युवती

    मैट्रिमोनियल साइट पर जान-पहचान

    युवती ने बताया कि राजेश से उसकी जान-पहचान मेट्रीमोनियल साइट जीवनसाथी डॉट कॉम पर हुई थी। आरोपियों ने रेप के दौरान उसके प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा। शरीर के कई हिस्सों में भी दांत से काटा। एक बार तो वह बहुत ज्यादा घायल हो गई, तब उसका इलाज कराकर चुप करा दिया।को अपने क्षिप्रा इलाके में स्थित फार्म हाउस में रखा। वह युवती पर अप्राकृतिक शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालने लगा। युवती जब मना करती तो उसके साथ मारपीट करता। उसके प्राइवेट पार्ट सहित शरीर के कई हिस्सों को सिगरेट से जला देता था। युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपी कुछ समय बाद अपने दोस्तों के पास भेजने लगा। सभी ने पीड़िता का बारी-बारी के साथ बलात्कार किया। लड़की ने पुलिस को बताया कि डेढ़ महीने तक जुल्म ढहाने के बाद बिल्डर राजेश विश्वकर्मा ने उसे अपने दोस्त विपिन के साथ छत्तीसगढ़ स्थित घर छुड़वा दिया। कुछ दिन खामोश रहने के बाद युवती ने छत्तीसगढ़ से आकर शाम क्षिप्रा पुलिस को शिकायत की।

    धमकाकर छत्तीसगढ़ छोड़ आए

    राजेश ने अपने साथी विपिन के साथ उसे छत्तीसगढ़ उसके घर छुड़वा दिया। चाकू दिखाकर हत्या की धमकी दी। वह परिवार के पास चली गई। शनिवार को इंदौर आकर पुलिस में शिकायत की।

    इंदौर गैंगरेप मामले के कुछ आरोपी के बेमेतरा में छुपे होने की सूचना पर पुलिस टीम द्वारा दो दर्जन से अधिक प्रकरणों में फरार आरोपी विपिन भदौरीया को हाउसिंग बोर्ड कालोनी से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि गैंगरेप के मुख्य आरोपी राजेश विश्वकर्मा द्वारा विपिन भदौरीया, आनंद सहानी, सिद्धीक को पीड़िता को मारने हेतु भेजा गया था, जो अपनी पहचान छुपाकर कुछ दिनों तक सबेरा लाज में पान मसाला के एजेंट बताकर रहा। इसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से पीड़िता के घर के पास हाउसिंग बोर्ड कालोनी में मकान लेकर छुपकर रह रहे थे। पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह द्वारा महिला संबंधी प्रकरण होने के सुचना जिले के कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी विलास भोसकर संदीपान को दी गई जो मौके पर पहुंचे। आरोपियों के विरूद्ध थाना बेमेतरा मेंधारा 341, 506, 109, 34 भादवि., 25, 27 आर्म्स एक्ट कायम कर विवेचना में लिया गया है। आरोपी विपिन भदौरिया पिता दिनेश भदौरिया उम्र 37 साल साकिन नावली थाना जैतपुर जिला आगरा (उ.प्र.) को न्यायिक अभिरक्षा हेतु न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। अन्य आरोपी राजेश विश्वकर्मा, आनंद सहानी पिता गणेश प्रसाद सहानी गोरखपुर उत्तर प्रदेश, हाल नागदा मध्य प्रदेश, सिद्धीक मांग्लिया इंदौर की तलाश जारी है।

    तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

    छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूल की टीचर महिला से फार्म हाउस में गैंग रेप के मामले में हमने मुख्य आरोपी राजेश विश्वकर्मा को गिरफ्तार करके उसके दो दोस्तों अंकेश बघेल व विवेक विश्वकर्मा को भी गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में इन लोगों से पूछताछ लगातार जारी है।

    -गिरजा शंकर महोबिया, टीआई, क्षिप्रा थाना, इंदौर

    और भी...